Covid 19 Essay in Hindi

Covid 19 Essay in Hindi

Covid 19 Essay in Hindi

कोरोना वायरस या Covid-19 संक्रमण ऐसी बीमारी है जिसे वैश्विक संगठन द्वारा महामारी घोषित किया गया है। नवंबर 2019 में यह चीन की लैब से निकला था, धीरे- धीरे यह वायरस इंसान से इंसान में फैलने लगा।

प्रस्‍तावना

देखते ही देखते इस वायरस ने पूरे दुनिया में पैर पसार लिए। अंटार्कटिका जैसे क्षेत्र में भी कोरोना की पुष्‍टि हुई है। जनवरी 2020 में यह वायरस भारत में पाया गया। 21 मार्च 2020 को पूरे देश में जनता कर्फ्यू लगाया गया था, 1 साल बाद यानि 2021 में फिर से कोरोना वायरस लगातार बढ रहा है।

कोरोनावायरस का जन्म

ऐसा कहा जाता है की, कोरोना वायरस की उत्पत्ति चीन का एक शहर वुहान में हुई थी। दुनिया के सबसे पहले कोरोना वायरस के मरीज इसी शहर में मिले थे। इसका कारण यह है की, इस वुहान शहर में कई प्रकार के पशु – पक्षियों के प्रजातियों का मास बेचा जाता था। जो पूरी तरह से दिल दहला देने वाली बात थी।

वहा के वैज्ञानिकों का कहना है की इसी पशु पक्षियों को बेचने वाले बाजार में चमगादड़ नामक एक पक्षी की प्रजाति इस कोरोना से संक्रमित थी। जिसका मास खाने की वजह से ये वायरस बहुत तेजी से इंसानों में फैल गया।

कुछ लोगों का ये भी कहना है की, उस शहर मे स्थित एक संस्था जिसका नाम है वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी। जिसमे इस वायरस पर प्रयोग हो रहे थे। लेकिन वो प्रयोग करते समय किसी को इस वायरस की लागण हुई और बादमें ये वायरस पूरी दुनिया में फैल गया। लेकिन इसका कोई ठोस सबूत नहीं है।

कोरोना वायरस बीमारी क्‍या है

कोरोना वायरस यह एक ऐसा संक्रमण है जो एक व्‍यक्ति से दूसरे व्‍यक्ति में तेजी से ट्रांसफर होता है। वर्तमान में इस वायरस के लक्षण सर्दी, जुकाम,बुखार, सुगंध नहीं आना, स्वाद नहीं आना, सांस लेने में तकलीफ होना और गले दुखना है। पूरी दुनिया में इस वायरस पर शोध जारी है।

कैसे फैलता है यह वायरस और बचाव के उपाय

जो व्‍यक्ति कोरोना पॉजिटीव है उसके संपर्क में आने से सबसे पहले यह फैलता है। साथ ही किसी व्‍यक्ति द्वारा खांसने के बाद जो बारीक पार्टीकल आपके शरीर में प्रवेश करते हैं इससे संक्रमित होने का खतरा है।

इसलिए सरकार द्वार जारी निर्देश में कहा गया है कि बातचीत के दारौन कम से कम 3 फीट की दूरी बनाकर रखें। इसी के साथ मास्‍क भी लगाकर रखें। जब किसी दूसरे व्‍यक्ति के पार्टिकल आपके संपर्क में आते हैं तब संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है।

कोविड-19 से बचाव के लिए ‘मेड इन इंडिया’ वैक्‍सीन:

कोरोना वायरस को महामारी घोषित करने के बाद से पूरी दुनिया में वैज्ञानिकों द्वारा वैक्‍सीन पर शोध जारी है। वर्तमान में भारत, रूस समेत अन्‍य देशों ने वैक्‍सीन जारी की है। भारत द्वारा 2 वैक्‍सीन का निर्माण किया गया है। कोविशील्‍ड वैक्‍सीन, इस वैक्‍सीन का उत्‍पादन भारत में सीरम इंस्‍टीट्यूट द्वारा किया जा रहा है। कोवैक्‍सीन, इस वैक्‍सीन का उत्‍पादन भारत बायोटेक द्वारा किया जा रहा।

इसे भी पढ़े: Cow Essay in Hindi

भारत ने 65 देशों में पहुंचाई कोरोना वैक्‍सीन:

भारत ने वैक्‍सीन के उत्‍पादन के बाद इसे अभी 65 देशों में उपलब्‍ध कराया है। भारत सरकार द्वारा यह वैक्‍सीन कुछ देशों को ग्रांट बेसिस पर दी जा रही है। किसी देश में भारतीय वैक्‍सीन की कीमत चुकाने पर उपलब्‍ध कराई जा रही है। भारत ने श्रीलंका, भूटान, बांग्‍लादेश, नेपाल, म्‍यांमार,मालदीव सहित अन्‍य कुछ देशों में 56 लाख कोरोना वैक्‍सीन के डोज उपलब्‍ध कराए हैं।

कोरोन वायरस केस ताजा अपडेट:

17 मार्च 2021 के ताजा अपडेट के अनुसार पूरी दुनिया में कुल कोरोना संक्रमित लोगों का आंकड़ा 1,21,370,336 पहुंच गया है। इस वायरस से मौत का आंकड़ा 26,84,236 तक पहुंच गया है। पूरी दुनिया में एक्टिव केस का आंकड़ा 20,735,000 है। भारत में कोरोना वायरस का कुल आंकड़ा 1,14,38,734 तक पहुंच गया है। अब तक 1,59,079 लोगों की मौत हो चुकी है। देश में एक्टिव केस की संख्‍या 2,34,371 है।

Credit: Learn Essay Speech

उपसंहार : 

एक साल बाद फिर से पूरी दुनिया में कोरोनावायरस लगातार फैलता जा रहा है। 21 मार्च 2020 को भारत में जनता कर्फ्यू लगाया गया था, आज एक साल बाद फिर वही स्थिति बन रही है। भारत के कई क्षेत्रों में दोबारा नाइट कर्फ्यू लगाया गया है, तो कई क्षेत्रों में पूर्ण लॉकडाउन लगाना पड़ा
है। वैज्ञानिकों द्वारा इस पर लगातार शोध जारी है। वर्तमान में इस बीमारी से बचाव के लिए सोशल डिस्‍टेंसिंग का पालन करें और मास्‍क लगाएं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.