essay on taj mahal in hindi

Essay On Taj Mahal In Hindi

Essay On Taj Mahal In Hindi:ताजमहल को दुनिया के 7 आश्चर्यों में से एक माना जाता है। भारत में जब भी हम आगरा का नाम सुनते है सबसे पहले हमारे मन में ताजमहल का ही नाम आता है। ताजमहल बहुत खूबसूरती से बनाई गई ऐतिहासिक इमारत है।

Essay On Taj Mahal In Hindi

यह सफेद संगमरमर से बनी हुई है, जो इसे भव्य और चमकदार बनाता है। यह अपने आस-पास के क्षेत्रों में आकर्षक लॉन, सजावटी पेड़, सुंदर पशु, आदि को रखता है।

आगरा का ताजमहल

यह आगरा, उत्तर प्रदेश में यमुना नदी के किनारे स्थित है। यह शाहजहां द्वारा अपनी पत्नी मुमताज महल की बनवाई गई बहुत ही सुन्दर कब्र है। प्राचीन समय में, शाहजहां एक राजा था और उसकी पत्नी मुमताज महल थी। शाहजहां अपनी पत्नी को बहुत प्यार करता था और वह उसकी मृत्यु के बाद बहुत दुखी हो गया। तब उसने अपनी पत्नी की याद में बड़ी कब्र का निर्माण कराने का निर्णय लिया। और उसने ताजमहल का निर्माण कराया जो आज दुनिया के सात आश्चर्यों में से एक है।

इसे भी पढ़े:Essay On Terrorism In Hindi

प्रस्तावना

ताजमहल आगरा के किले के बिल्कुल पीछे स्थित है, जहाँ से राजा अपनी प्यारी पत्नी की याद में ताजमहल को नियमित देखा करता था। हर साल हजारों लोग आगरा में ताजमहल की सुन्दरता को देखने के लिए आते हैं। यह बहुत से कलाकारों और कारीगरों ने कठिन परिश्रम द्वारा बनाया था। इसे 20 करोड़ भारतीय मुद्रा के द्वारा तैयार कराने में 20 सालों का समय लगा। ताजमहल रात में चाँद की चाँदनी में बहुत ही सुन्दर लगता है।

ताजमहल की सुंदरता

यह आगरा में स्थित है। यह दुनिया के सात आश्चर्यों में से एक है। यह सफेद संगमरमर से बनी हुई सबसे सुन्दर इमारत है। यह सपनों के स्वर्ग जैसा लगता है। यह आकर्षक तरीके से बनाया गया है और शाही सुंदरता के साथ सजा है। यह पृथ्वी पर अद्भुत प्रकृति की सुंदरता में से एक है। गुंबद के नीचे अन्धेरे कक्ष में राजा और रानी दोनों की कब्र है। इसकी दीवारों पर कांच के टुकड़ों का उपयोग करके कुरान की कुछ आयतों को लिखा गया है। इसके चारों कोनों पर स्थित बहुत ही आकर्षक चार मीनारों हैं।

ताजमहल कब और क्यों बनवाया गया?

ताजमहल 17वीं शताब्दी में, मुगल सम्राट शाहजहां के द्वारा बनवाया गया, भारत का बहुत ही सुन्दर ऐतिहासिक स्मारक है। यह उसने अपनी पत्नी मुमताज महल की याद में बनवाया था। वह उसकी तीसरी पत्नी थी, जिसे वह बहुत प्यार करता था।

उसकी मृत्यु के बाद, राजा बहुत दुखी हो गया और बहुत सा धन, जीवन और समय खर्च करने के द्वारा ताजमहल का निर्माण कराया था। वह अपनी पत्नी की याद में आगरा के किले से प्रतिदिन ताजमहल को देखा करता था। ताजमहल उत्तर प्रदेश राज्य के आगरा शहर में बहुत बड़े और विस्तृत क्षेत्र में स्थित है। पूरी दुनिया की सात सबसे सुन्दर इमारतों में से एक है और सातवां अजूबा के नाम से जाना जाता है। यह भारत में सबसे आकर्षक पर्यटन स्थलों में से एक है, जहाँ हर साल हजारों से भी ज्यादा पर्यटक आते हैं।

ताजमहल और आगरा के किले को यूनेस्को के द्वारा विश्व विरासत के रुप में चिह्नित किया गया है और 2007 में इसे दुनिया के सात अजूबों में चुना गया। ताजमहल आगरा किले से 2.5 किलोमीटर दूर स्थित है। यह मुगल कालीन स्थापित्व कला है और भारतीय, इस्लामिक, मुस्लिम, परसी कला आदि के मिश्रण के द्वारा बहुत सुन्दरता से बनाया गया है। यह माना जाता है कि, शाहजहां स्वंय के लिए ऐसी ही काले रंग की कब्र का निर्माण कराना चाहता था हालांकि, वह अपने इस विचार को कार्य रुप में बदलने से पहले से ही मर गया। उसकी मृत्यु के बाद उसे ताजमहल में ही अपनी पत्नी के बराबर में दफन कर दिया गया।

इसे भी पढ़े:Essay On Hindi Diwas

ताजमहल बनवाने के पीछे का इतिहास

शाहजहां ने ताजमहल का निर्माण मुमताज की याद में करवाया था। ताजमहल का निर्माण इन्होंने 17वीं शताब्दी में करवाया

था। शाहजहां एक मुगल सम्राट थे और मुमताज इनकी तीसरी पत्नी। मुगल सम्राट शाहजहां अपनी तीसरी पत्नी मुमताज से काफी ज्यादा प्यार करते थे, अतः बाद में उनकी मृत्यु हो जाने के बाद मुगल सम्राट शाहजहां बहुत ही ज्यादा दुखी रहने लगे हैं, अतः इन्होंने इनकी याद में ताज महल बनवा दिया।

इन्होंने ताजमहल बनवाने में अपने जीवन का बहुत सा कीमती समय खर्च किया, इतना ही नहीं ताजमहल बनवाने में इन्होंने अपने राजकोष का काफी सारा धन खर्च कर दिया। लोगों के द्वारा ऐसा भी कहा जाता है, कि शाहजहां ने ताजमहल बनाने वाले मजदूरों के हाथ काट दिए थे, क्योंकि वह नहीं चाहते थे, कि दुनिया में ताजमहल के ही जैसी कोई अन्य इमारत बने।

मुगल सम्राट शाहजहां ने अपनी पत्नी मुमताज की याद में बनवाए गए ताजमहल को प्रतिदिन आगरा के किले से देखा करते हैं और यह उस महल में अपनी पत्नी को महसूस करते हैं। शाहजहां एक मुगलकालीन के योद्धा थे अतः यह ताजमहल मुगलकालीन स्थापित्व की एक इमारत है। शाहजहां ने इस इमारत को भारतीय इस्लामिक पारसी इत्यादि कलाओं के मिश्रण के द्वारा बनवाया है।

यह माना जाता है, कि शाहजहां स्वयं के लिए ताजमहल के ही आकार की एक काले रंग की कब्र का निर्माण करवाना चाहते थे, हालांकि शाहजहां की का यह विचार पूरा नहीं हो सका उनकी मृत्यु हो गई। मृत्यु के समय इन्होंने ऐसा कहा था, कि मेरी कब्र को मुमताज के बगल में ही दफन करना, अतः मृत्यु के बाद उनकी कब्र को वहीं पर दफन कर दिया गया।

इसे भी पढ़े:Essay On Air Pollution In Hindi

क्यों शामिल किया है, ताजमहल को सात अजूबों में

जैसा कि हम सभी लोग जानते हैं, भारत में बहुत से इतिहासिक स्मारक मौजूद है, परंतु ताजमहल उन सभी स्मारक में से अद्वितीय माना जाता है। ताजमहल बहुत ही आश्चर्यजनक कलाओं से भरपूर है। ताजमहल को भारत का सबसे आकर्षक इमारत भी कहा जाता है।

इतना ही नहीं ताजमहल और आगरा किले को यूनेस्को द्वारा विश्व की विरासत के रूप में चिन्हित कर दिया गया है। अतः इन सभी के बाद वर्ष 2007 में ताजमहल को दुनिया के सात अजूबों में शामिल कर दिया गया।

ताजमहल की संरचना

ताजमहल के निर्माण की कला का आधार अनेकों प्रकार के भवनों की कला से लिया गया है, जैसे परसिया राजवंश की कला, हुमायूं का मकबरा, मुगल भवन गुर ए अमीर, इतमादुत दौलाह का मकबरा और जामा मस्जिद इत्यादि है। मुगल शासन काल के दौरान बनाए जाने वाले सभी इमारतों को लाल रंग के पत्थरों से बनाया जाता था, परंतु शाहजहां ने इसे सबसे अलग बनाने के लिए सफेद पत्थरों का उपयोग किया जो कि अपने आप में ही अद्वितीय है।

ताजमहल को सफेद संगमरमर से बनाया तो गया ही है, साथ ही इसमें अनेकों प्रकार के नक्काशी और हीरे जड़कर इसे ताजमहल की दीवारों पर सजाया गया है, परंतु बाद में इसे चुरा भी लिया गया। ताजमहल का निर्माण करवाने में लगभग 28 प्रकार की पत्थरों का उपयोग किया गया था। ताजमहल के निर्माण के लिए दुनिया भर से कारीगरों को चुन चुन कर भारत लाया गया था और निर्माण के बाद उन कारीगरों के हाथ काट दिए गए, ऐसा लोगों का कहना है।

credit:Silent Course

उपसंहार

ताजमहल को सभी लोगों के द्वारा देश की धरोहर कहा जाता है। इतना ही नहीं ताजमहल को प्रेम की एक अद्वितीय निशानी भी कही जाती है। ताजमहल को बनवाने का विचार तब आया जब शाहजहां की पत्नी मुमताज की मृत्यु हो गई अतः ताजमहल का निर्माण शाहजहां ने अपनी पत्नी मुमताज की याद में करवाया।

Leave a Comment

Your email address will not be published.